janjgir-champa – एक विधवा महिला ने राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई, यहां जानिए मामला क्या है।

0
74

Table of Contents

janjgir-champa – आधिकारिक विश्वास के मुताबिक, जिले के एक विधवा महिला ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर बनाने के लिए दूसरी किश्त की तकनीकी दिक्कतों के कारण राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की मांग की है। इस मामले में, महिला का आरोप है कि योजना के तहत पहली किश्त की राशि उसे मिल चुकी है, लेकिन दूसरी किश्त के लिए उसे महीनों से नगर पालिका के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं।

janjgir-champa -

janjgir-champa महिला ने अपनी समस्या को हल करने के लिए कलेक्टर के नाम राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की मांग की है। उन्होंने यह भी दावा किया है कि नगर पालिका की लापरवाही के कारण उन्हें पीएम आवास का दूसरा किस्त नहीं मिल रहा है।

janjgir-champa बताया जा रहा है कि महिला का नाम पार्वती है और वह लगातार नगर पालिका कार्यालय जा जा कर थक गई हैं। पहली किश्त जारी होने के बाद उन्होंने बाकी किश्तों की मांग की है, लेकिन उन्हें नगर निगम कार्यालय में धमकी देकर भगा दिया जाता है।

यह भी पढ़े

janjgir-champa इस मामले में बकायेदार की ओर से भी अभ्रदता की जा रही है। महिला के द्वारा बतायी गई घटनाओं के संदर्भ में उन्होंने कहा, “मैं एक विधवा महिला हूं और मेरे पास अधिकारों का अभाव है। मैंने पहली किश्त भी मंजूर करवा ली है, लेकिन दूसरी किश्त के लिए अब मेरे पास पर्याप्त पैसे नहीं हैं। नगर पालिका के कर्मचारियों ने मेरे साथ बदतमीजी की है।”

देखे देखे हमारे इंस्टाग्राम चैनल पर और फॉलो करे

janjgir-champa इस घटना के बारे में जिला प्रशासन ने कहा, “हम इस मामले की जांच कर रहे हैं और शीघ्र ही कार्रवाई की जाएगी। विधि के अनुसार कार्रवाई होगी और जरूरत पड़ने पर महिला को न्याय मिलेगा।”

janjgir-champa बताया जा रहा है कि महिला का नाम पार्वती है और वह लगातार नगर पालिका कार्यालय जा जा कर थक गई हैं। पहली किश्त जारी होने के बाद उन्होंने बाकी किश्तों की मांग की है, लेकिन उन्हें नगर निगम कार्यालय में धमकी देकर भगा दिया जाता है।

इस समस्या के समाधान के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने दावा किया कि उन्होंने जिले में लागू सभी सरकारी योजनाओं की निगरानी करने के लिए नई प्रक्रियाएं शुरू की हैं, ताकि इस तरह की समस्याओं का समाधान किया जा सके।

इस मामले में विधवा महिला की आस्था प्रशासनिक अधिकारियों से न्याय की उम्मीद के साथ है। उन्हें विश्वास है कि उनकी समस्या का जल्दी से जल्दी समाधान होगा और वह एक नया जीवन शुरू कर सकेगी।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here