International Widow Day 1 Exclusive News अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस पर मंजुलता टंडन की सभी समुदायों से अपील..

0
25

Table of Contents

International Widow Day अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस पर मंजुलता टंडन की सभी समुदायों से अपील.. जांजगीर चांपा, अन्तर्राष्ट्रीय उपभोक्ता कल्याण समिति की प्रदेश अध्यक्ष एवं महिला समाजिक कार्यकर्ता श्रीमती मंजुलता टंडन ने अन्तर्राष्ट्रीय विधवा दिवस पर हमारे प्रतिनिधि को एक विशेष भेट में बताया है कि जो सपने महिला ने शादी से पहले अपनी आने वाली जिंदगी के लिए देखे होते हैं, वो सब टूट जाते हैं। यही नहीं, आज भी हमारा समाज विधावाओं को उस नजर से नहीं देखता है, जिसकी वो असल में हकदार हैं। ऐसे में इस समाज की जिम्मेदारी बनती है कि विधवाओं को भी बाकी लोगों की तरह दर्जा मिले। ऐसे में इन्हीं महिलाओं को सम्मान दिलाने के लिए हर साल 23 जून को अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस मनाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस पर मंजुलता टंडन की सभी समुदायों से अपील..

International Widow Day

International Widow Day अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस पर मंजुलता टंडन की सभी समुदायों से अपील..दरअसल सभी उम्र, क्षेत्र और संस्कृति की विधावाओं की स्थिति को विशेष पहचान दिलाने के लिए 23 जून 2011 को पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस मनाने की घोषणा की और तब से हर साल इस दिन को 23 जून को मनाया जाता है।

FOLLOW US ON INSTAGRAM

International Widow Day अंतरराष्ट्रीय विधवा दिवस के दिन को मनाने के पीछे का उद्देश्य ये है कि पूरी दुनिया में विधवा महिलाओं की स्थिति में सुधार हो सके, ताकि वे भी बाकी लोगों की तरह समान्य जीवन जी सके और बराबरी का अधिकार प्राप्त कर सके। ऐसा इसलिए है क्योंकि भले ही हम कितनी भी तरक्की कर चुके हों, लेकिन विधवा को आज भी बराबरी की नजर से नहीं देखा जाता हैं इस अवसर श्रीमती मंजुलता टंडन ने विश्व की सभी समुदायों से अपील करते हुए कहा है कि हम सबको मिलकर विधाला महिलाओं को सम्मान दिलाने में पहल करना चाहिए जिससे वह अपने आपको उपेक्षित महसूस न कर सके
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here