Janjgir-Champa News : तापमान के साथ ही ओवर लोड बढ़ने से जल रहे ट्रांसफार्मर तापमान के साथ ही ओवर लोड बढ़ने से जल रहे ट्रांसफार्मर

0
47

Janjgir-Champa News : तापमान के साथ ही ओवर लोड बढ़ने से जल रहे ट्रांसफार्मरभीषण गर्मी में तापमान बढ़ने के साथ ही बिजली के उपकरण भी जवाब देने लगे हैं। एक ओर ट्रांसफार्मर जल रहे हैं तो बिजली के तार गर्म होने की वजह से तार जलकर टूट रहे हैं। इतना ही नहीं ओवरलोड से डीओ भी लगातार कट रहा है। ऐसे में लगातार बिजली बिजली गुल होना स्वाभाविक है। सबसे खराब स्थिति ग्रामीण अंचलों की है।

Janjgir-champa News : तापमान के साथ ही ओवर लोड बढ़ने से जल रहे ट्रांसफार्मर

जांजगीर- चांपा : भीषण गर्मी में तापमान बढ़ने के साथ ही बिजली के उपकरण भी जवाब देने लगे हैं। एक ओर ट्रांसफार्मर जल रहे हैं तो बिजली के तार गर्म होने की वजह से तार जलकर टूट रहे हैं। इतना ही नहीं ओवरलोड से डीओ भी लगातार कट रहा है। ऐसे में लगातार बिजली बिजली गुल होना स्वाभाविक है। सबसे खराब स्थिति ग्रामीण अंचलों की है। क्यों कि ग्रामीण अंचलों में बिजली की मरमत समय पर नहीं हो पाती है। वहीं शहर में शिकायत होने पर बिजली के कर्मचारी की मरमत के लिए अमला तैनात हो जाता है। अधिकतर घरों में एसी लगने से लोड बढ़ रहा है। ऐसे में ट्रांसफार्मर जलना स्वाभाविक है। ओवरलोड से तार टूटने की शिकायत आम हो गई है।

यह भी पढे

ओवरलोड से डीओ कट जाता है। इससे बिजली गुल हो जाती है।गर्मी में बिजली की समस्या आम होते जा रही है। लोड बढने से विद्युत उपकरण जल रहे हैं। इसके कारण चौबीसो घंटे बिजली मिल पाना संभव नहीं हो पा रहा है। लोगों को एक पल भी बिजली नहीं मिलने पर परेशान हो जाते हैं क्यों कि हर पल कूलर पंखे की जरूरत होती है। लगातार ट्रांसफार्मर चलने से हीट होकर जलने लगे हैं। बीते एक माह के भीतर जिले भर में लगभग दो दर्जन से अधिक ट्रांसफार्मर जल चुके हैं। विद्युत अमला ट्रांसफार्मर आपूर्ति करते थक जा रहा है। सबसे खराब स्थिति ग्रामीण अंचल में है। ग्रामीण अंचल में लोग हीटर का उपयोग करते हैं।

इसके अलावा लोग लगातार कूलर पंखे का उपयोग करते हैं। ग्रामीण अंचल में भी एसी का चलन बढ़ गया है। ऐसे में ट्रांसफार्मर जलना स्वाभाविक है। ग्रामीण अंचल के अलावा शहर में एसी का चलन बढ़ गया है। अधिकतर घरों में एसी लगने से लोड बढ़ रहा है। ऐसे में ट्रांसफार्मर जलना स्वाभाविक है। ओवरलोड से तार टूटने की शिकायत आम हो गई है। ओवरलोड से डीओ कट जाता है। इससे बिजली गुल हो जाती है। एई सौरभ कश्यप का कहना है कि गर्मी के दिनों में बिजली की खपत बढ़ती है, इससे ट्रांसफार्मर भी हीट होकर खराब होता है। छोटी समस्याओं की मरमत स्थानीय स्तर पर हो जाती है। बड़ी समस्या होने पर बाहर भेजा जाता है।

कर्मचारियों की समस्या

विद्युत के मेंटेनेंस के लिए विद्युत मंडल लाइनमेन की भर्ती वर्षों से नहीं की है। इसके कारण त्वरित मेंटेनेंस नहीं हो पाता। खासकर ग्रामीण अंचल में लाइनमेन के दर्जनों पद रिक्त है। यही वजह है कि ग्रामीण अंचल में रात को बिजली होने पर दूसरे दिन बिजली की मरमत हो पाती है। यदि पर्याप्त संया में कर्मचारी होते तो समय पर ग्रामीण अंचलों में शहर की तरह मेंटेनेंस हो जाता। बताया जा रहा है कि जिले भर में दो दर्जन लाइनमेन के पोस्ट रिक्त है। कर्मचारियों की भर्ती करने के बजाए विद्युत मंडल ठेका कर्मचारियों के भरोसे काम चला रहा है।

चल रही झुलसा देने वाली गर्महवाएं 0

जिले में तापमान 43 डिग्री तक पहुंच गया है। इसके चलते दोपहर में शरीर को झुलसा देने वाली गर्म हवाएं भी चल रही है। लोग गर्मी से बचने के लिए कूलर, एसी व पंखों के सहारा ले रहे हैं। दोपहर में भी अब सड़क में चहल पहल कम दिख रही है। प्रदेश में सर्वाधिक गर्म स्थान जांजगीर – चाम्पा है। सर्वाधिक गर्मी यहां पड़ती है। हर साल मई महीने में सर्वाधिक तापमान दर्ज किया जाता है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here